User-agent: * Disallow: /wp-admin/ Allow: /wp-admin/admin-ajax.php Sitemap: https://satta-play.in/sitemap_index.xml एसआईपी के लिए टॉप मिडकैप म्यूचुअल फंड, जानिए इसकी खासियत - SATTA PLAY

एसआईपी के लिए टॉप मिडकैप म्यूचुअल फंड, जानिए इसकी खासियत


म्यूचुअल फंड निवेश तेजी से बढ़ रहा है पिछले कुछ साल के आंकड़ें देखें तो निवेशकों की जैसे बाढ़ सी आ गयी है. अब शेयर बाजार में निवेश कर पाना हर किसी की बात तो हैं नहीं, इसके लिए बहुत अधिक रिसर्च और अनुभव की जरुरत होती है. वहीँ म्यूचुअल फंड के जरिये शेयर बाजार में निवेश किया जा सकता है. यह शेयर बाजार की तरह रिस्की भी नहीं है और शेयर्स के चुनाव जैसे मुद्दों पर माथा-पच्ची भी नहीं करनी, म्यूचुअल फंड में सारा काम आपके लिए फंड मैनेजर कर देते हैं, आपका पैसा एक नहीं बल्कि अनेक मजबूत स्टॉक्स को खरीदने में लगाया जाता है, जिससे आपको डायवर्सिफिकेशन का फायदा होता है, इस तरह आप Mutual Fund में निवेश कर अधिक से अधिक धन अर्जित करते हैं.

मिडकैप फंड्स को समझें

मिडकैप फंड्स में लगे निवेशकों के पैसे अधिक से अधिक मात्रा में मिड यानि मध्यम आकार की कंपनियों में निवेश किया जाता है. इस कंपनियों का मार्केट साइज 5,000 करोड़ से लेकर 20,000 करोड़ तक होता है. लार्ज कैप की तुलना में मिडकैप फंड्स बढ़िया रिटर्न दे सकते हैं क्योंकि इन कंपनियों के पास ग्रोथ करने की सम्भावन बड़ी कंपनियों की तुलना में ज्यादा है. वहीँ यह स्मॉल कैप फंड्स की तुलना में कम जोखिम वाले भी होते हैं.

यह पढ़ें : 25X25X25 का नियम और म्यूचुअल फंड से बन जाता है 56 लाख, यहाँ देखें कैल्कुलेशन

टॉप मिडकॅप फंड्स के 5 साल के रिटर्न

Mutual Funds 5 Year Return
Quant Mid Cap 27%
PGIM Ind Midcap: 25%
Motilal Oswal Midcap 24.61%
Nippon Ind Growth 23.58%
Edelweiss Mid Cap 23.52%
Mahindra Manulife Mid Cap 23%
Kotak Emrgng Eqt 22.79%
HDFC Mid-Cap 22.46%
SBI Magnum Midcap 22.44%
Tata Midcap Growth 22%
Baroda BNP Paribas Midcap 21.48%
Invesco Ind Midcap 20.82%
Axis Midcap 20.26%

अगर किसी निवेशक ने इन 5 साल के दौरान क्वांट मिडकैप फंड में निवेश किया होगा उनके 1 लाख रुपये की वैल्यू 3.3 लाख रुपया हो गयी होगी

कौन कर सकता है निवेश

ऐसे निवेशक जो थोड़ा रिस्क ले सकते हैं व लम्बी अवधि के लिए निवेश कर वेल्थ क्रिएट करना चाहते हैं मिडकैप फंड में निवेश कर सकते हैं निवेश लक्ष्य कम से कम 3 या 5 साल रखें. क्योंकि मिडकैप फंड्स लम्बी अवधि में बढ़िया रिटर्न देते हैं.

मिडकैप फंड्स में निवेश के लाभ

मिडकैप फंड्स मिडिल आकार की कंपनियों में निवेश करता है, इन कंपनियों के पास लार्जकैप बनने की अपार संभावनाएं होती है. मिडकैप फंड्स लार्जकैप बनने के सफर में अधिक रिटर्न उत्पन्न कर सकती हैं, हालांकि यह लार्जकैप की तुलना में थोड़े रिस्की है मगर लॉन्ग टर्म में यह लार्ज कैप से 2,3 गुना का रिटर्न दे सकती हैं. वहीँ मिडकैप फंड्स स्मॉल कैप की तुलना में बहुत ज्यादा अस्थिरत नहीं होती.

मिडकैप फंड्स में निवेश के नुकसान

इस फंड में लिक्विडिटी रिस्क प्रमुख है, यह लार्जकैप के सामान व्यापक रुप से ट्रेड नहीं किया जा सकता इसलिए शेयर्स आसानी से ख़रीदे व बेंचे नहीं जाते नतीजतन निवेशकों के लेन-देन लागत बढ़ जाती है.

लार्ज कैप फंड्स की तुलना में एक्सपेंश रेसियों अधिक होता है जिससे रिटर्न प्रभावित होते हैं इसके अलावा मिडकैप फंड्स लार्ज की तुलना में अधिक अस्थिर होते हैं. बाजार गिरावट व आर्थिक अनिश्चितता की स्थिति में फंड्स लार्जकैप की तुलना में अधिक नुकसान वाले होते हैं.

निवेश से पहले इन बातों पर ध्यान दें

  • म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम का लंबे समय में प्रदर्शन को ध्यान दें
  • एक्‍सपेंस रेश्‍यो पर विचार करें
  • म्‍यूचुअल फंड की रिस्‍क प्रोफाइल
  • फंड मैनेजर की का अनुभव

यह पढ़ें : 11 बेस्ट फ्लेक्सी कैप म्यूचुअल फंड 10 साल साल में मिला सबसे ज्यादा रिटर्न

हमारे व्हाट्सअप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें

Join शेयर बाजार म्यूचुअल फंड
व्हाट्सअप ग्रुप Join Join
टेलीग्राम ग्रुप Join

Disclaimer : यह आर्टिकल रिसर्च और जानकारियों के आधार पर बनाया गया है, हमारे द्वारा किसी भी प्रकार की फाइनेंसियल एडवाइज नहीं दी जाती अगर आप निवेश करना चाहते हैं तब सबसे पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह लें

Leave a Comment