User-agent: * Disallow: /wp-admin/ Allow: /wp-admin/admin-ajax.php Sitemap: https://satta-play.in/sitemap_index.xml TATA Mutual Fund के सीईओ ने बताया 40:40:20 स्ट्रेटजी, ज्यादातर निवेश कर रहे हैं यह गलतियां - SATTA PLAY

TATA Mutual Fund के सीईओ ने बताया 40:40:20 स्ट्रेटजी, ज्यादातर निवेश कर रहे हैं यह गलतियां


ज्यादातर निवेशक म्यूचुअल फंड निवेश के लिए एक्सपर्ट की सलाह लेते हैं. उनकी सलाह से सहीं समय पर सहीं जगह पैसे लगाए जाते हैं और अच्छा-खासा रिटर्न देखने को मिलता है. ऐसे में सोचने वाली बात यह है कि ये एक्सपर्ट खुद अपना पैसा कहाँ इन्वेस्ट करते हैं.

इस आर्टिकल का उद्देश्य निवेशकों तक TATA Mutual Fund के सीईओ राहुल सिंह जी की निवेश रणनीति को सामने रखना है. जोकि मनीकंट्रोल को दिए गए इंटरव्यू पर आधारित है. अपनी निवेश रणनीति बताते हुए उन्होंने 40:40:40 स्ट्रेटजी का खुलासा किया, इसके तहत 40% निवेश बैलेंस एडवांटेज फंड, 40% निवेश डायवर्सिफाई इक्विटी फंड में और बांकी 20 प्रतिशत निवेश अग्रेसिव प्रोडक्ट्स में किया जाना बताया.

40:40:20 का स्ट्रेटजी क्या है?

TATA Mutual Fund के CEO के अनुसार डायवर्सिफाई इक्विटी फंड्स में लार्जकैप, मिडकैप, मल्टीकैप, और फ्लेक्सीकैप फंड्स शामिल है, अग्रेसिव फंड में स्मॉल कैप फंड्स आ जाता है. 40:40:20 स्ट्रेटजी के अनुसार 40 प्रतिशत हिस्सा रिस्क को मैनेज करता है और 40 फीसदी रिटर्न को बचा 20 फीसदी हिस्सा पुरे पोर्टफोलियो का रिटर्न बढ़ाता है.

राहुल सिंह जी कहते हैं की रिटेल निवेशकों को निवेश का यह नियम समझें की आवश्यकता है. जहाँ ज्यादातर इन्वेस्टर्स अधिक कमाई के लिए शेयरों की खरीद व बिक्री कर रहे हैं राहुल सिंह जैसे मार्केट एक्सपर्ट म्यूचुअल फंड के जरिये शेयरों में निवेश को पसंद कर रहे हैं.

क्या डायरेक्ट शेयरों में निवेश सहीं है?

आमतौर पर निवेशक शेयर मार्केट में शुरुवात पेसेंस के साथ करते हैं वे 3 से 5 साल का निवेश नजरिया रखते हैं और 12 से 15 फीसदी रिटर्न की उम्मीद करते हैं. परन्तु देखते ही देखते उनका यह सब्र टूटने लगता है, वे शॉट-टर्म ट्रेडिंग, इंट्रा डे-ट्रेडिंग, फ्यूचर एंड ऑप्शन आदि करने लगते हैं, यही से समस्या शुरु हो जाती है और वे रणनीति के साथ काम नहीं कर पाते.

अपना ट्रैक रिकार्ड अवश्य चेक करें

SEBI द्वारा जारी वित्तीय वर्ष 2022 डाटा के अनुसार हर 10 में से 9 शेयर मार्केट निवेशकों को नुकसान उठाना पड़ा है यह नुकसान औसत 1.1 लाख रुपये का रहा है, राहुल सिंह जी कहते हैं की एक फंड मैनेजर के तौर पे वे इन्वेस्टर्स को सलाह नहीं दे सकते कि उन्हें फ्यूचर और ऑप्शन करना चाहिए या नहीं। इसके लिए निवेशक खुद का ट्रैक रिकार्ड जांच सकते हैं, उसके बाद किसी भी नतीजे पर पहुचें, आखिर में यह खुला मार्केट है निवेशक एक रणनीति के साथ निवेश की शुरुवात करता है और कब अपनी रणनीति तोड़ लेता है पता भी नहीं चलता, बाजार से वेल्थ क्रिएट करने के लिए TATA Mutual Fund के सीईओ 40:40:20 स्ट्रेटजी अपनाने की सलाह देते हैं.

यह पढ़ें : Investment : 1 हजार रुपये के सामान्य निवेश पर भी म्यूचुअल फंड बना देता है करोड़पति, ये रहा कैलकुलेशन चार्ट

हमारे व्हाट्सअप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें

Join शेयर बाजार म्यूचुअल फंड
व्हाट्सअप ग्रुप Join Join
टेलीग्राम ग्रुप Join

Disclaimer : यह आर्टिकल रिसर्च और जानकारियों के आधार पर बनाया गया है, हमारे द्वारा किसी भी प्रकार की फाइनेंसियल एडवाइज नहीं दी जाती अगर आप निवेश करना चाहते हैं तब सबसे पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह लें

Leave a Comment